January 21, 2009

पूरे प्रदेश ने किया एक साथ सूर्य नमस्कार

<><><>(कमल सोनी)<><><> हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी पूरे मध्य प्रदेश के स्कूलों में एक साथ सूर्य नमस्कार का आयोजन किया गया मध्य प्रदेश के डेढ़ लाख से अधिक स्कूलों में लगभग १ करोड़ से ज़्यादा छात्र छात्राओं ने सामूहिक सूर्य नमस्कार में हिस्सा लिया सामूहिक सूर्य नमस्कार का यह महायोजन सबेरे 9 से 9.45 तक किया गया इस वृहद आयोजन में मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ग्वालियर में और अन्य मंत्रीगण अपने प्रभार वाले जिलों के स्कूल या कॉलेज में आयोजित सामूहिक सूर्य नमस्कार में शामिल हुए । सामूहिक सूर्य नमस्कार व प्राणायाम के आयोजन में एक करोड़ से अधिक छात्र-छात्राओं ने भाग लेकर कार्यक्रम को सफल बनाया हलाकि मौसम के बदलते रूप के चलते कहीं कहीं सूर्य देवता ने दर्शन नहीं दिए भोपाल के सुभाष उत्कृष्ट उ.मा.वद्यालय में आयोजित सामूहिक सूर्य नमस्कार का दूरदर्शन और आकावाणी से सीधा प्रसारण किया गया अन्य स्थानों पर आकाशवाणी के प्रायमरी चैनलों से प्रसारण किया गया ।
कौन कहाँ कहाँ :- शिक्षा मंत्री श्रीमती अर्चना चिटनिस शाजापुर जिले के कालापीपल ब्लॉक के छोटे कस्बे रनायल के हाई स्कूल में आयोजत सामूहिक सूर्य नमस्कार में शामिल हुई इसके अलावा अपने प्रभार वाले जिलों में बाबूलाल गौर सागर जिले के बीना में, जयंत कुमार मलैया टीकमगढ़ जिले में, कैलाश वजयवर्गीय धार जिले में, गोपाल भार्गव दमोह जिले के ग्राम झागर में, अनूप मालाविया ग्वालियर में मुख्यमंत्री के साथ, जगदीश देवड़ा देवास जिले में, लक्ष्मीकान्त शर्मा हरदा जले में, नागेन्द्र सिंह नागौद, डिंडोरी में, जगन्नाथ सिंह सीधी जिले में, डा. रामकृष्ण कुसमरया कटनी जिले में, गौरीशंकर बसेन बालाघाट जिले में, तुकोजीराव पवार बड़वानी जिले में, पारसचंद्र जैन मंदसौर जिले के सुवासरा में, श्रीमती रंजना बघेल खरगौन में, राजेन्द्र शुक्ल सतना के बेला में, नारायण सिंह कुशवाहा पोहरी में, कन्हैयालाल अग्रवाल मुरैना में, हरांकर खटीक पन्ना में तथा देवसिंह सैय्याम सिवनी के घंसौर ब्लॉक के शासकीय बालक माध्यमक शाला कटया में आयोजित सामूहिक सूर्य नमस्कार के आयोजन में शामिल हुए ।
अगले सत्र से एक पीरियड सामूहिक सूर्य नमस्कार :- मध्यप्रदेश में अगले शिक्षण सत्र से सभी शासकीय शालाओं में कक्षा पांचवीं से बारहवीं तक के छात्र-छात्राओं के लिए प्रत्येक सप्ताह के आखिरी दिन के पहले पीरियड में सूर्य नमस्कार का नियमित अभ्यास कराया जायेगा। यह घोषणा मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज मध्यप्रदेश में सामूहिक सूर्य नमस्कार के आयोजन के अवसर पर आकाशवाणी से प्रसारित अपने सन्देश में की। उन्होंने कहा कि सरकार ने पाठ्यक्रम में भी योग को सम्मिलत कर राज्य को योग नीती की दिशा में लाने की महत्वपूर्ण पहल की है। कक्षा छटवीं के लिए निर्धारित सहायक वाचन की पुस्तक में योग को भी शामिल किया गया है।मुख्यमंत्री ने कहा कि सूर्य नमस्कार भारतीय योग पंरपरा का अदभुत उपहार है। यह विभिन्न आसनों एवं व्यायाम का समन्वय है, जिससे शरीर के सभी अंगों-उपांगों का पूरा व्यायाम हो जाता है।
video

4 comments:

विनय said...

बहुत बढ़िया

---आपका हार्दिक स्वागत है
चाँद, बादल और शाम

कविता वाचक्नवी said...

Sukhad Samachaar

संगीता पुरी said...

अच्‍छी खबर है.।

RAJIV MAHESHWARI said...

खबर तो अच्‍छी है.।
लेकिन कुछ लोगो के पेट में दर्द शुरू हो जाएगा.