March 2, 2009

लोकसभा के महा-कुम्भ की घोषणा - आचार संहिता लागू

<><><>(कमल सोनी)<><><> चुनाव आयोग ने 15 लोकसभा के महा-कुम्भ की घोषणा कर दी है इसके साथ ही चुनाव आचार संहिता भी लागू हो गई है 15 लोकसभा के महा-कुम्भ पांच चरणों में संपन्न होगा घोषणा होते ही आचार संहिता तत्काल प्रभाव से लागू कर दी गई है। 15 लोकसभा के महाकुम्भ में चुनाव आयोग ने वोटिंग के लिए फोटो पहचान पत्र ज़रूरी होगा इसके लिए आयोग ने सख्त रवैया अपनाने के निर्देश जारी किये हैं साथ ही देश भर में 8,28,000 पोलिंग बूथ बनाए जायेंगे पांच चरणों में होने वाले इन चुनावों के लिए 11 लाख इलेक्ट्रौनिक वोटिंग मशीनों की आवश्यकता होगी चुनाव आयोग ने कहा है कि किसी भी आकस्मिक स्थिति की आशंका के मद्देनज़र 13.66 लाख इलेक्ट्रौनिक वोटिंग मशीनों की व्यवस्था की गई है चुनाव में देश भर से 71 करोड़ से ज़्यादा मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे और दो जून से पहले सरकार का गठन कर लिया जाएगा। इन चुनावों के दौरान 99 सीटों पर परिसीमन का असर दिखेगा। 84 सीटें सुरक्षित हैं।
पांच चरणों में होगा महाकुम्भ :-
>>>>> 16 अप्रैल को चुनावों का पहला चरण होगा। इस चरण में 124 सीटों के लिए वोटिंग कराई जाएगी।
>>>>> चुनावों का दूसरा चरण 23 अप्रैल को होगा। इसके तहत 141 सीटों पर मतदान होगा।
>>>>> 30 अप्रैल को होने वाले तीसरे चरण के मतदान में 107 सीटों पर उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला होगा।
>>>>> मतदान का चौथा चरण सात मई को होगा जिसमें 85 सीटों पर मतदान कराये जायेंगे
>>>>> पांचवां चरण 13 मई को होगा। इनमें 86 सीटों पर वोट डाले जाएंगे।
>>>>> वोटों की गिनती 16 मई को होगी।
>>>>> 2 जून के पहले लोकसभा का गठन हो जायेगा
कहाँ कितने चरणों में होंगे मतदान :-
>>>>> उत्तर प्रदेश और जम्मू-कश्मीर में सभी पांच चरणों में मतदान होगा जबकि बिहार में चार चरणों में चुनाव कराए जाएंगे।
>>>>> महाराष्ट्र तथा प. बंगाल में तीन चरणों में चुनाव होंगे।
>>>>> अरूणाचल प्रदेश, झारखंड, मध्यप्रदेश तथा पंजाब में दो चरणों में ये महाकुम्भ संपन्न होगा
>>>>> इन लोकसभा चुनावों के साथ ही अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम और उड़ीसा में विधानसभा चुनाव भी कराए जाएंगे।
>>>>> इसके अलावा बाकी के राज्यों में एक चरण में चुनाव संपन्न होंगे
इससे पहले, आम चुनावों के कार्यक्रम को अंतिम रूप देने के लिए चुनाव आयोग की बैठक हुई। निर्वाचन सदन में हुई इस बैठक में मुख्य चुनाव आयुक्त एन गोपालस्वामी, दोनों आयुक्त नवीन चावला और एसवाई कुरैशी तथा आयोग के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया।

5 comments:

इष्ट देव सांकृत्यायन said...

लागू करिए जी! सारी पार्टियां भी तैयार हैं उसका अचार डालने के लिए.

मुंहफट said...

जी!

Udan Tashtari said...

अब शुरु उल्टी गिनती.

neeshoo said...

आकड़े दिये अच्छा लगा पढ़कर । आचार संघिता लागू हो गयी है तो अच्छा अब उल्लघन तो करना ही होगा पार्टियों को ।

Arvind Mishra said...

अब तो शुरू हो गया महासमर -मैं भी बंधा !