December 31, 2008

नए साल 2009 का स्वागत हो नए संकल्पों के साथ

सभी ब्लॉगर साथियों को नए वर्ष २००९ की शुभकामनाएं
<><><>(कमल सोनी)<><><> वक़्त बीतते पता नहीं चलता. कभी-कभी लगता है कि बस चंद माह पहले की ही बात है कि लोग तहे दिल से वर्ष 2008 का स्वागत कर रहे थे. और आज उसी साल के अलविदा कह रहे हैं वक्त कभी रुकता नहीं यह तो निरंतर आगे ही बढ़ता रहता है साल दर साल हम नए साल का स्वागत करते हैं सभी के दिल में नए साल के स्वागत के लिए उमंगें रहती हैं सभी नए साल का जश्न नए तरीकों से मनाना चाहते हैं युवा पीढी में खासकर नए साल ने जश्न के लिए खासा उत्साह देखने को मिलता है कोई पार्टियों में जाता है कोई पिकनिक में कोई सिर्फ अपने परिवार के साथ खुशियाँ मनाता है वर्ष २००८ तो बीत गया कह गया हमेशा के लिए अलविदा और छोड़ गया ढेर सारी अच्छी और बुरी यादें आज नया साल २००९ आपके दरवाज़े पर दस्तक दे रहा है नए साल के स्वागत में कहीं भी जाएँ और खुशियाँ बांटे लेकिन आने वाले साल के हर दिन को उर्जावान, और खुशियों भरा बनाने के लिए कुछ संकल्प भी लें क्योंकि वास्तविकता तो यह है आज के दिन सभी एक दूसरे को मिलेंगे, खुशियाँ बाटेंगे, बधाई और एस.एम्.एस. का दौर रहेगा, पार्टियों में डांस और मस्ती भी रहेगी और उसके बाद हमारी आपकी दिनचर्या फिर वही हो जायेगी इसीलए आने वाले साल को और बेहतर बनाने के लिए आज कुछ संकल्प ले
समय की कीमत करें :- हर वर्ष आप एक नई क्लास में जाते हैं, नई-नई चीजें सीखते हैं और नए-नए दोस्त भी बनाते हैं। लेकिन यह आप खुद महसूस करते होंगे कि जैसे-जैसे साल गुजरता जाता है, वैसे-वैसे आप फिर से पुराने रुटीन-वर्क पर लौटने लगते हैं। और फिर से एक नया साल आपके सामने होता है। लेकिन इस बार ज़रा सोचिये की पिछली बार आपने जो लक्ष्य निर्धारित किये थे उन्हें पाने में आप कहाँ तक सफल हुए कितना समय आपका बर्बाद हुआ
संवेदनशील और परोपकारी बने :- हमें अपने देश, समाज, और प्रकृति के प्रति संवेदनशील रवैया अपना चाहिए ज़रा किसी की मदद करके तो देखिये कितनी खुशी मिलती है आप अपने देश, समाज, परिवार और प्रकृति के प्रति जितने ज़्यादा संवेदन शील रहेंगे उतना ही आपमें सदगुणों का विकास होगा
नियमित दिनचर्या बनायें :- यदि आपकी दिनचर्या अनियमित है तो यह आपके विकास में सबसे बड़ी बाधक है अपने २४ घंटे के कार्यों का मूल्यांकन करें आप स्वयं उसे बेहतर तरीके से नियमित कर सकते है ऐसा करके आप अपना कीमती समय भी बचा सकते है नियमित दिनचर्या जीवन को संतुलित बनाती है और एक संतुलित जीवन ही प्रगति की राह पर हमेशा आगे बढ़ता है
मन में हीन भावना या अभिमान न पनपने दें :- अक्सर कर देखा जाता है कि कुछ लोगों में अपनी किसी कमी के कारण स्वयं के प्रति हीन भावना पनपने लगती है दूसरा अपनी किसी खूबी के चलते मन में अभिमान आ जाता है ये दोनों ही विकास में बाधक हैं अपनी किसी कमी को अपनी कमजोरी न बनने दे सकारात्मक रवैया अपनाते हुए ये सोचें कि आपके पास क्या है ये न सोचे कि आपके पास क्या नहीं है और यदि आप अपनी किसी खूबी का अभिमान करते है तो ये याद रखें कि दुनिया में कोई सर्वश्रेष्ठ नहीं होता यदि आपमें कुछ बेहतर है तो उसका सदुपयोग करें
स्वास्थ्य पर ध्यान दें :- जिंदगी में स्वास्थ्य का बहुत महत्व है अच्छा स्वास्थ्य रहने से मन में कोई विकार भी नहीं आता अच्छे स्वास्थ्य के लिए प्रतिदिन अपना सही खानपान करें और प्रतिदिन आधा घंटा व्यायाम करें व्यायाम न सिर्फ आपको तरोताजा रखता है बल्कि आपके शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता में इजाफा करता है समय पर नींद लेना भी बेहद आवश्यक है
नया साल आया है नई खुशियाँ लाया है नई उम्मीदें है खुद से देश से लेकिन जीवन की छोटी छोटी बातें हमारे जीवन में बड़े महत्व रखती है अपने जीवन को बेहतर बनाने कुछ नए संकल्प लें और नया साल मनाये

1 comment:

हिमांशु said...

आपको भी नव-वर्ष की शुभकामनायें.